Web Hosting क्या है, कितने प्रकार का होता है और कैसे काम करता है – जानिये

web hosting kya hai

दोस्तों आज के इस बहुत ही खास पोस्ट में हम Web Hosting क्या है इसके बारे में बात करने वाले हैं |

जैसे की मै देखता हूँ काफी सारे लोग अब धीरे-धीरे अपना खुद का ऑनलाइन बिज़नस शुरू करना चाहते हैं | और किसी भी ऑनलाइन बिज़नस में वेबसाइट का बहुत ही अहम रोल होता है |

और किसी भी वेबसाइट या ब्लॉग को बनाने के लिए दो चीजों की जरुरत पडती है वो हैं Domain Name और Web Hosting |

DOMAIN NAME क्या है,क्यों जरुरी है और कितने प्रकार के होते हैं – पूरी जानकारी

GODADDY से DOMAIN कैसे खरीदें (COMPLETE GUIDE IN HINDI)

Web Hosting क्या है

जब आप कोई ब्लॉग बनाते हो तो आपको उसका सारा Data (Text ,images ,videos etc) को किसी सर्वर में स्टोर करने की जरुरत पड़ती है | ताकि इंटरनेट पर लोग उसे access कर पायें |

Web Hosting एक सर्विस है जो हमारे वेबसाइट के डाटा (Text ,images ,videos etc) को इंटरनेट पर अपलोड करने की सुविधा प्रदान करता है |

वेबसाइट होस्टिंग के लिए हमे एक Powerful server की जरुरत पड़ती है जो 24 *7 इंटरनेट से connected रहे |

अब ऐसे Server को personal level पर maintain करना बहुत ही मुश्किल है और ये बहुत costly भी होगा इसलिए लगभग सभी लोगऑनलाइन जो वेब होस्टिंग प्रोवाइड करने वाली कंपनी होती हैं जिनके पास बहुत ही powerful server,technology और पुरे एक्सपर्ट लोग होते हैं जो हर समय आपकी मदद के लिए तैयार होते हैं | और हम blogger या Website बनाने वाले लोग महीने या साल के प्लान के हिसाब से इन कम्पनियों से web Hosting खरीद लेते हैं |

अब हालाँकि कुछ वेब होस्टिंग कंपनी उतनी अच्छी भी नही होती लेकिन इसका चुनाव आपको ही करना पड़ता है |

Web Hosting कितने प्रकार के होते हैं

वैसे तो दोस्तों वेब होस्टिंग बहुत प्रकार के होते हैं लेकिन जो वेब होस्टिंग का प्रयोग सबसे ज्यादा होता है उनकी हम यहाँ पर बात करेंगे जैसे की-

Shared Web Hosting

VPS (Virtual Private Server)

Dedicated Hosting

Cloud Web Hosting

Shared Web Hosting

Shared web hosting की सर्विस में हजारों वेबसाइट का जो डाटा होता है वो किसी एक ही सर्वर पर store होता है | इसीलिए इसे shared web hosting का नाम भी दिया गया है |

अब क्योंकि बहुत सारी वेबसाइट किसी एक ही सर्वर से कनेक्टेड होते हैं इसलिए इस प्रकार की होस्टिंग का cost कम होता है और ये होस्टिंग उन लोगों के लिए बेहतर होता है जिन्होंने अभी अपना नया ब्लॉग शुरू किया है |

क्योंकि जब आप ब्लॉग शुरू करते हो तो आपके ब्लॉग पर ज्यादा विजिटर भी नही आते और डाटा भी आपके वेबसाइट का उतना नही होता तो इसलिए shared web hosting पर उतना लोड नही पड़ता है और आपकी वेबसाइट smoothly चलती है |

Shared Web Hosting के फायदे

1- इसकी कीमत बहुत कम होती है इसलिए इसे कोई भी खरीद सकता है |

2- इस प्रकार की होस्टिंग का सेटअप करना बहुत ही आसान है बिना टेक्नोलॉजी ज्ञान के भी आप इसे चला सकते हो |

3- इस प्रकार के वेब होस्टिंग के कण्ट्रोल पैनल काफी यूजर-फ्रेंडली होता है |मतलब की कोई भी बड़ी आसानी से इसके फंक्शन को समझ सकते हैं |

4- ये उन लोगों के लिए बेहतरीन होता है जो बेसिक लेवल की वेबसाइट बनाना चाहते हैं |

5- किसी भी न्यू ब्लॉगर के लिए shared होस्टिंग लेना काफी बेहतर हो सकता है |

Shared Web Hosting के नुकसान

1- काफी सारे वेबसाइट का डाटा एक ही सर्वर पर होने के कारण कई बार आपकी वेबसाइट लोड होने में समय लग सकता है |

2- जब आपके ब्लॉग या वेबसाइट पर ज्यादा ट्रैफिक आने लगता है तब इस प्रकार की होस्टिंग में आपकी ब्लॉग की लोडिंग टाइम काफी बढ़ जाती है |

3- अब क्योंकि ये थोडा सस्ता वेब होस्टिंग होता है इसलिए इसमे आपको लिमिटेड रिसोर्सेस एक्सेस ही मिलते हैं |

4- ये होस्टिंग आपके ब्लॉग के डाटा को ज्यादा सिक्यूरिटी भी नही देता है |

5- आमतौर पर देखा गया है की जितने भी वेब होस्टिंग प्रोवाइडर हैं वो इस प्रकार की होस्टिंग प्लान में ज्यादा सपोर्ट प्रदान नही करती हैं |

VPS (Virtual Private Server) Hosting

VPS जिसे की हम Virutal Private Server कहते हैं इसमें होता ये है की एक बहुत बड़े सर्वर को अलग-अलग भाग में बाँट के रखा जाता है और जिस भाग पर आपके ब्लॉग या वेबसाइट का डाटा स्टोर है उस पर किसी दुसरे ब्लॉग या वेबसाइट का डाटा स्टोर नही किया जा सकता है उस पर सिर्फ आपका ही हक होता है |

For example: जैसे की जब आप अपने गाव से शहर नौकरी के लिए आते हो और किसी किराये के मकान में रहते हो तो आपने देखा होगा की वो एक बहुत बड़ा मकान होता है लेकिन वहां पर आप किसी एक कमरे में रहते हो जहाँ कोई और नही रह सकता है सबका अपना -अपना अलग से कमरा होता है और वो उसका किराया देते हैं तो same यही VPS होस्टिंग भी होती है |

VPS (Virtual Private Server) Hosting के फायदे

1- अब क्योंकि इस प्रकार की होस्टिंग आप किसी के साथ शेयर नही कर रहे हो बल्कि किसी बहुत बड़े सर्वर को अलग-अलग भाग में बाँट दिया है और आपने कोई एक भाग खरीद लिया है इसलिए इसकी perfomance बेहतरीन आपको मिलेगी |

2- इस प्रकार की होस्टिंग में आपको पूरा कण्ट्रोल अपनी होस्टिंग पर मिलता है |

3- सबसे बड़ी बात की इस प्रकार की होस्टिंग की प्राइवेसी और सिक्यूरिटी बहुत बेहतर होती है |

4- अगर आपकी वेबसाइट और ब्लॉग पर ज्यादा ट्रैफिक भी है तब भी ये होस्टिंग आपके लिए बेहतरीन सपोर्ट आपको देता है और इसकी कीमत उतनी भी ज्यादा नही होती कोई भी इसे खरीद सकता है |

5- इस प्रकार की होस्टिंग को आप अपने तरीके से कस्टमाइज कर सकते हैं काफी फ्लेक्सिबल ये होता है प्रयोग करने में |

VPS (Virtual Private Server) Hosting के नुकसान

1- सबसे पहले तो इसे कोई भी नही चला सकता है इसके लिए आपको टेक्निकल ज्ञान होना जरुरी है |

Dedicated Hosting

इस प्रकार की होस्टिंग सबसे बेहतरीन होती है क्योंकि आपकी वेबसाइट का पूरा डाटा किसी seperate सर्वर पर स्टोर होता है |

For Example : जैसे की आपने कोई मकान खरीद लिया है अब उस पर आपका पूरा कण्ट्रोल होता है उसी प्रकार Dedicated Hosting होती है जहाँ किसी एक ही सर्वर पर आपके पुरे ब्लॉग या वेबसाइट पर पूरा डाटा स्टोर होता है |

जिनकी वेबसाइट पर हर दिन बहुत ज्यादा ट्रैफिक आता है उन्ही के लिए ये होस्टिंग जरुरी है क्योंकि इसकी कीमत थोडा ज्यादा भी होती है | अमूमन इस प्रकार की होस्टिंग बड़ी-बड़ी e-commerce वेबसाइट Flipkart,amazon,snapdeal इस्तेमाल करते हैं |

Dedicated Hosting के फायदे

1- सबसे ज्यादा सिक्यूरिटी,सपोर्ट और प्राइवेसी इसी होस्टिंग प्लान में दी जाती है |

2- इस प्रकार की होस्टिंग में क्लाइंट मतलब की जो ब्लॉग या वेबसाइट को मेन्टेन करता है उसके पास पूरा कण्ट्रोल होता है |

3- इस प्रकार की होस्टिंग में आपको ये चिंता करने की जरुरत नही है की अगर मेरे ब्लॉग पर ट्रैफिक ज्यादा होगा तो कही ब्लॉग की लोडिंग टाइम बढ़ न जाये |

Dedicated Hosting के नुकसान

1- ये थोडा महंगा होता है |

2- इसमे आपको टेक्निकल ज्ञान होना बहुत ही जरुरी है |

Cloud Web Hosting

Cloud Webhosting में आपका ब्लॉग या वेबसाइट का डेटा किसी एक सर्वर पर स्टोर नहीं होता है बल्कि वो कंपनी जहाँ से आपने होस्टिंग ली है उसके पास बहुत सारे सर्वर होते हैं जहाँ आपका ब्लॉग का डेटा सेव होता है।

मतलब की बाकि वेबहोस्टिंग में आपका ब्लॉग का डेटा किसी एक सर्वर या फिर किसी बड़े सर्वर के छोटे से भाग पर स्टोर होता है .

जबकि Cloud Webhosting में आपके ब्लॉग का डेटा कॉफी सारे सर्वर पर स्टोर होता है और जब भी कोई यूजर आपके ब्लॉग को इंटरनेट पर सर्च करता है तो उसके nearest सर्वर से आपके ब्लॉग की इनफार्मेशन share होती है।

इसलिए Cloud Webhosting को काफी फ़ास्ट माना जाता है।

Cloud Webhosting के फायदे

1- cloud webhosting सर्वर डाउन होने के बहुत कम chances होते हैं क्योंकि आपका ब्लॉग बहुत सारे सर्वर से होस्ट होता है

2- अगर आपके ब्लॉग पर हाई ट्रैफिक भी हो तब भी cloud hosting पर आपका ब्लॉग आराम से हैंडल हो जाता है।

Cloud Webhosting के नुकसान

1- अगर हम cloud hosting के एक draw back की बात करें तो वो ये है की ये थोड़ा महंगा होता है.

Web Hosting काम कैसे करता है

आज के समय बहुत सारी कंपनी हैं जो आपके वेबसाइट के डाटा को अपने सर्वर पर स्टोर करने की सुविधा देते हैं | जिसके बदले में वो आपसे प्लान के हिसाब से महीने या साल में पैसे लेते हैं |

वेबसाइट का पूरा डाटा (text ,images ,vidoes etc ) सर्वर में अपलोड करने के बाद उसे इंटरनेट के माध्यम से कोई भी कभी भी web Address यानि Domain Name डालकर देख सकते हैं |

अब जानिए वेब होस्टिंग काम actual में करता क्या है – जब भी कोई यूजर अपने वेब ब्राउज़र में वेब एड्रेस डालकर आपके वेबसाइट पर आता है तो उस यूजर का कंप्यूटर आपके उस होस्टिंग सर्वर ये जहाँ से आपने वेब होस्टिंग ली है उससे कनेक्ट हो जाता है | अब वो सर्वर क्या करता है जितना भी आपका डाटा स्टोर है वो उसे उस यूजर के कंप्यूटर सिस्टम में डिस्प्ले कर देता है | इसके लिए जरुरी है की यूजर और सर्वर दोनों में इंटरनेट की सुविधा हो |

Web Hosting खरीदने से पहले इन बातों रखें ध्यान

बहुत सारे नए ब्लॉगर वेब होस्टिंग खरीदने से पहले कुछ ज्यादा सोचते नहीं है जिससे बाद में उन्हें काफी परेशानी होती है इसलिए web hosting को buy करने से पहले इन कुछ खास बातों का ध्यान जरूर रखना चाहिए –

1 – Cost और customer support

सबसे पहले तो आपको ये देखना है वेब होस्टिंग आपके बजट में आ रहा है की नहीं, दूसरा ये देखें की जो कंपनी web hosting provide कर रही है उसका customer support service कैसी है quick response देते हैं की नहीं ये बहुत जरुरी होता है |

2 – Back-up/Security

सबसे जरुरी बात जो वेब होस्टिंग buy करते समय आपको एक और ध्यान में रखना है की उसकी Backup और security feature कैसे हैं ये दोनों चीज़ें किसी भी ब्लॉग के लिए बहुत जरुरी हैं | इसलिए इनको जरूर ध्यान में रखें ,

क्योंकि कई बार आपके ब्लॉग का डाटा आपको ट्रांसफर करना होता है ये फिर गलती से कुछ डिलीट हो जाता है है तो क्या आपके वेब होस्टिंग में बैकअप का प्लान है या नहीं ये आपको जरूर देखना है |

और आजकल ऑनलाइन काफी सारी गलत चीज़ें भी होती हैं जहाँ आपके ब्लॉग को सिक्योरिटी का सवाल भी होता है तो ये भी आपकी web hosting पर depend करता है की वो आपको कैसी सिक्योरिटी provide करते हैं |

3 – Uptime and Downtime

Uptime and Downtime भी बहुत जरुरी term है जो आपको होस्टिंग buy करते समय ध्यान में रखना है | क्योंकि जब भी कोई यूजर आपके वेबसाइट पर जायेगा तो उसे आपका ब्लॉग पोस्ट जितना जल्दी दिखेगा उतना ही बढ़िया तरीके से वो आपसे engage हो सकता है |

4 – Reviews and Rating

काफी सारे लोग आजकल कुछ ऑनलाइन purchase करते समय उसका review और Rating जरूर देखते हैं तो आपको भी काफी सारे आर्टिकल या वीडियो या फिर कस्टमर रिव्यु जरूर देखने चाहिए उन कंपनियों के जो वेब होस्टिंग प्रोवाइड करते हैं |

5 – SSL और Domain

काफी सारी वेब होस्टिंग कंपनी हैं जो फ्री में SSL सर्टिफिकेट और फ्री Domain भी देती हैं तो वो आपके लिए काफी सस्ता हो सकता है जैसे की blue host की managed wordpress hosting.

यह भी पढ़े :

Best Web Hosting Companies For India

अंतिम शब्द

मुझे पूरी आशा है दोस्तों मेरे इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आपको वेब होस्टिंग क्या है ये समझ आ गया होगा साथ ही कितने प्रकार के होते हैं कैसे काम करते हैं इसकी भी जानकरी हो गयी होगी |

अगर आपका कोई भी सुझाव या सवाल है तो आप हमे कमेंट करके जरूर बताएं साथ ही ब्लॉग्गिंग और इंटरनेट से रिलेटेड ऐसी ही useful जानकरी के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक और ईमेल newsletter को जरूर subscribe करें।

Deepak Bhandari

Hello friends! मै DeepakBhandari.in का फाउंडर हूँ, मुझे डिजिटल मार्केटिंग और ऑनलाइन बिज़नेस से related टॉपिक के बारे मे जानना और साथ ही उस जानकारी को लोगों के साथ शेयर करना काफी अच्छा लगता है | इस ब्लॉग के जरिये मेरी कोशिश है की आप लोग अपने बिज़नेस या करियर को ऑनलाइन grow कर पायें |

4 thoughts on “Web Hosting क्या है, कितने प्रकार का होता है और कैसे काम करता है – जानिये

  1. Sir aapka article bahut accha laga. Aap bahut asan bhasha me batate ho. Sir ek request tha, aap Table of content ka barime thoda ek article likh dijiye. Bahut meherbani hogi. Love you from Kolkata, West Bengal

  2. मैंने आपके बहुत सारे आर्टिकल पढ़े है, आप बहुत ही सटीक जानकारी देते है। ये बहुत ही अच्छी जानकारी है। इसको पढ़ कर मुझे इससे जुडी सारि चीज़े पता चल गयी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *