Google क्या है ,कैसे बना और Google का full form क्या है

Google क्या है

Google क्या है – हम हर रोज गूगल पर जाकर जब कुछ जानना चाहते हैं तो हमे मात्र कुछ ही सेकंड के अंदर जवाब मिल जाता है | किसी भी तरीके की जानकरी क्यों न हो हमे गूगल से मिल जाती है |

लेकिन कभी आपने ये सोचा है की ये Google आखिर कैसे बना होगा? कैसे ये काम करता होगा?

शायद नहीं, तो इसलिए आज हमने Google के ऊपर एक डिटेल पोस्ट लिखने के बारे में सोचा है जहाँ हम आपको सारी वो जानकारी देंगे जो आपको Google जो की आज इंटरनेट की दुनिया में अकेला राजा है उसके बारे में पता होना जरुरी है |

Google का full form क्या है

Google का Full form – Global Organization of Oriented Group Language of Earth है |

वैसे तो मै आपको बताऊ की Google का कोई official full form नहीं है जिसका उपयोग google करता हो |

Google जो शब्द है ये एक गणतीय शब्द से बना है जो “Googol” से लिया गया है जिसका मतलब होता है 100 शुन्य के साथ 1 है |

चलो ये तो बात हुई google के full form की लेकिन ये google क्या है और कैसे ये बना ? आइये अब इसके बारे में जानते हैं |

Google क्या है

Google Inc एक US (united States of america ) based mnc कंपनी है | अभी present में इंटरेनट से जुड़े सभी प्रोडक्ट और सेवाओं के लिए सबसे ज्यादा प्रयोग किये जाने वाला लोकप्रिय सर्च इंजन भी यही है |

इसके अलावा Google के जो मुख्य functional area हैं वो Online advertising technology, cloud computing, search engines और software हैं |

और इसके अलावा बहुत बड़ी संख्या में Google Docs, Adwords, Adsense, Youtube, Gmail आदि एप्लीकेशन हैं |

अभी पूरी दुनिया में जितने भी लोग इंटरेनट चलाते हैं उनमे से लगभग 90% से ज्यादा लोग google के सर्च इंजन का ही प्रयोग करते हैं और सिर्फ सर्च इंजन का ही नहीं बल्कि Google के और प्रोडक्ट जैसे youtube ,gmail ,Google Drive आदि का प्रयोग करते हैं |

मुझे आशा है की आपको google क्या है जानकारी मिल गयी होगी लेकिन ये बना कैसे और कैसे इतना लोकप्रिय हो गया? आइये अब उसके बारे में भी जानते हैं –

Google का इतिहास

मैं आपको कुछ पॉइंट्स के जरिये google के इतिहास के बारे में बताता हूँ –

1 – 1996 में Larry page and Sergey Brin द्वारा Google को एक रिसर्च प्रोजेक्ट के रूप शुरू किया गया था | और ये दोनों Stanford University में PHd के स्टूडेंट थे | ये दोनों स्टूडेंट एक नई तकनीक पर काम करना चाहते थे जो वेबसाइट के पेजो की रैंकिंग को निर्धारित कर सके |

पेज रैंकिंग के निर्धारण से मतलब की अगर कोई सर्च बॉक्स में कोई query सर्च करे तो उसको रिजल्ट में उसके query से रिलेटेड बेस्ट वेबसाइट के पेज show हो जाये |

2 – 14 September 1997 को Google .com डोमेन को रजिस्टर किया गया और अगले ही साल 1998 में Google corporation की स्थापना की गयी थी |

3 – 2000 में Google ने अपने प्लेटफार्म से Advertisment करना शुरू कर दिया जिसके लिए उन्होंने Google ads और Google Adsense दो प्लेटफार्म बनाये |

Google Ads में जहाँ पर आप google के जरिये अपने प्रोडक्ट या सर्विस को इंटरनेट पर प्रमोट कर सकते हो लकिन हर क्लिक पर आपको पैसा देना होगा |

वही google adsense के जरिये आप पैसे कमा सकते हो अगर आपका कोई ब्लॉग है जहाँ पर आप गूगल द्वारा दिए गए विज्ञापन को अपने विजिटर को दिखा सकते हो ये भी क्लिक पर ही आधारित है की अगर कोई यूजर उन विज्ञापन पर क्लिक करता है तो जो ब्लॉग owner होगा उसको पैसे मिलते हैं |

4 – 2001 में google ने pagerank के इस शब्द को पेटेंट किया था मतलब की यूजर की query पर किस वेबसाइट के पेज को पहले नम्बर पर दिखाना है ,दूसरे पर किसको दिखाना है ये सब अपडेट किया था | इसी साल google को Eric Schmidt के रूप में नया CEO भी मिला था |

5 – 2004 में Google ने Free web -based Email सर्विस Gmail को लांच किया था |

6 – और 2005 में Google ने Google Earth and Google Maps को भी दुनिया को introduce किया था |

7 – 2006 में google ने अपने सर्च इंजन में वीडियो कंटेंट को भी अनुमति दी जिसके बाद से अब आप google पर कोई query पूछते हो तो आपको उसका जवाब टेक्स्ट ,images के अलावा वीडियोस के रूप में भी show होता है |

8 – 2007 में Google ने Android को लांच किया जिसके बाद से मोबाइल उपयोग करने वालों को एक खुला मंच मिल गया |

9 – 2 सितम्बर 2008 में google ने अपना खुद ब्राउज़र google chrome भी लेके आ गया जो की आज इतना ज्यादा पॉपुलर भी है |

इसके बाद भी दोस्तों google ने लगातार नए -नए प्रोडक्ट लांच किये जिनसे उनके यूजर को प्रॉफिट मिलता रहे |

चलो अब आपको ये भी पता लग गया है की google कैसे बना और उसके बाद उसने क्या -क्या बदलाव किये लेकिन google किस तरीके से पैसे कमाता है इसके बारे में काफी कम लोग जानते हैं तो चलिए अब हम विस्तार से जानते हैं की Google की कमाई कैसे होती है ?

गूगल पैसे कैसे कमाता है

हम सभी Google के बहुत सारे सर्विस को लेते हैं जैसे की – Google का सर्च इंजन, Youtube ,gmail , google chrome ,Google Drive ,Google map और भी बहुत सारे हैं |

लेकिन हम कभी google को इनको use करने का पैसा तो नहीं देते हैं तो कैसे दुनिया की टॉप कंपनी Google पैसे कमाती है ? शायद इसके बारे काफी कम लोग ही जानते होंगे | अगर हम states पर जाये तो 2019 में Google ने 162 बिलियन डॉलर के लगभग बिज़नेस किया है |

Google के पैसे कमाने के 2 सबसे बड़े तरीके हैं –

Google Ads

Google Adsense

Google Ads (search Ads)

अगर हम बात करें google Ads तो ये एक Google का ऐसा प्लेटफार्म है जहाँ बिज़नेस करने वाले ऑनलाइन अपने प्रोडक्ट या सर्विस को प्रमोट कर सकते हैं लेकिन इसके लिए उन्हें google को पैसे देने पड़ते हैं | और यही Google का सबसे अहम तरीका है पैसे कमाने का

अब आप खुद सोचिए आज के टाइम में जो भी इंटरनेट use करता है वो google से जुड़ा है और जब google के पास इतने विजिटर हैं तो बिज़नेस करने वाले लोग क्यों नहीं चाहेंगे अपने प्रोडक्ट को प्रमोट करने का इसलिए google ने बनाया था google ads

Google ads में करीब 5 तरीके होते हैं जिनसे आप अपने प्रोडक्ट या सर्विस को ऑनलाइन प्रमोट कर सकते हो और उनमे से सबसे पहला तरीका होता है Search Ads जिसमे गूगल अपने ही सर्च इंजन पर आपके Ads को दिखाता और जब कोई आपके बिज़नेस से रिलेटेड query Google के सर्च इंजन में सर्च करता है तो वो paid ads उसे टॉप पर दिखाई देते हैं और जैसे ही यूजर उस ad पर क्लिक करता है तो जिसका को वो ad होगा उसके अकाउंट से पैसे कट कर Google के पास चला जाता है | इस तरीके से Google सबसे ज्यादा पैसे कमाता है |

PPC क्या है और ये ऑनलाइन बिज़नेस में जरुरी क्यों है – जानिए

Digital marketing क्या है और इसके क्या फायदे हैं – जानिए

Google Adsense

अब जो दूसरा तरीका है Google के पैसे कमाने का वो है Google Adsense जी हाँ अब जैसे मैंने आपको ऊपर बताया है google ads पर आप अपने प्रोडक्ट को 5 तरीके से प्रमोट कर सकते हो पहले तरीका जो search ads इसमें तो google अपने सर्च इंजन में ads दिखाता है इसके अलावा एक और तरीका है shopping ads इसमें भी वो प्रोडक्ट और सर्विस के images और प्राइज अपने ही सर्च इंजन पर show करता है इसलिए सारे पैसे google ही लेता है |

लेकिन जो बाकि 3 तरीके होते हैं जैसे display ads , video ads और mobile ads इनमे Google किसी दूसरे के प्लेटफार्म पर ads दिखाता है जैसे वेबसाइट,यूट्यूब videos और mobile app जो आपने देखे ही होंगे |

अब जो Google दूसरे के पलटफोर्म पर ads दिखाता है जैसे की मेरे वेबसाइट पर या मेरे यूट्यूब चैनल की वीडियो पर या फिर मेरे मोबाइल app जो मैंने बनाया तो लाज़मी है की मुझे भी गूगल को कमिशन देना होगा | तो इस प्रोसेस को संभालने के लिए google ने बनाया है google adsense

जहाँ गूगल कहता है की जितने भी ब्लॉग,यूट्यूब चैनल या मोबाइल ऐप हैं वो आकर उसे google adsense में सबमिट करे हम रिव्यु करेंगे और जब उनका सब कुछ सही होगा तो हम आपको ads देंगे आप उसे अपने पलटफोर्म पर लगाओ अगर कोई विजिटर उन एड्स पर क्लिक करता है तो उसका 60% आपका और 40% हमारा |

आशा है आप अच्छे से जान गए होंगे google पैसे कैसे कमाता है

Google Product list

वैसे तो Google की प्रोडक्ट लिस्ट बहुत बड़ी है लेकिन आज हम कुछ मुख्य google के जो प्रोडक्ट हैं जिनका उपयोग हम अपने दिनचर्या में करते रहते हैं उनके बारे में जानेंगे –

1 – Google Search

Google क्या है

1997 में सबसे पहला प्रोडक्ट है google का सर्च इंजन ही लांच हुआ था जहाँ हम कोई भी जानकरी फ्री में ले सकते हैं किसी भी दूसरे सर्च इंजन से गूगल बहुत आगे है क्योंकि ये निरंतर अपने सर्च इंजन में अपडेट लेके आता रहता है ताकि यूजर के एक्सपीरियंस को बेहतर बनाया जा सके |

2 – Gmail

Google क्या है

email की सर्विस को सबसे आसान बनाया है Google के प्रोडक्ट Gmail ने जो 2004 में उसका beta version release किया था तो वही 2007 में इसे पब्लिक तौर पर लांच कर दिया था|

आप बड़ी ही आसानी से अपनी gmail id बनाकर किसी को मेल कर सकते हो चाहे वो पर्सनल हो या फिर प्रोफेशनल इसके अलावा अब तो Gmail को बिज़नेस को प्रमोट करने के लिए खूब प्रयोग किया जाता है |

3 – Google chrome

Google क्या है

सितम्बर 2008 में google ने अपना खुद का वेब ब्राउज़र लांच किया Google chrome लांच किया |

अपनी स्पीड और आसानी से use करने की कॉलिटी के कारण बहुत ही कम समय में Google chrome ने बाकि सभी वेब ब्राउज़र को पीछे छोड़ दिया |

4 – Google map

Google क्या है

Google के सभी टॉप प्रोडक्ट में से एक पर्सनली जो मुझे बहुत पसंद है वो Google map जिसको google ने 2005 में लांच किया था |

google map की मदद से आप बिना किसी की हेल्प लिए अपने सिटी में या कही भी बड़ी ही आसानी से पहुंच सकते हो आज कोई ये नहीं कहता मुझे उस जगह जाना था रूट बताना सब यही कहते है google map पर देख ना |

5 – Youtube

Google क्या है

फरवरी 2005 में google ने ऑनलाइन वीडियो की सबसे बड़ी library Youtube को लांच किया |

आज के दौर में इंटरनेट पर कोई दूसरा ऐसा प्लेटफार्म नहीं जहाँ आपको हर तरीके की वीडियो मिलेगी और सिर्फ आप यूट्यूब पर कोई वीडियो देख सकते हो बल्कि अपना खुद है यूट्यूब चैनल बनाकर पैसे भी कमा सकते हो |

6 – Google Docs

google docs की मदद से आप ऑनलाइन फ्री में अपने कोई भी डाक्यूमेंट्स बना सकते हो जो की बिलकुल सिक्योर रहता है |

7 – Android

Apple ,Iphone जैसे मोबाइल ओपेरटिंग सिस्टम को डायरेक्ट कम्पटीशन देने के लिए google ने 2007 में Android को लांच किया |

Android एक linux बेस्ड सॉफ्टवेयर है जो मोबाइल यूजर को एक बेहतरीन अनुभव देता है काफी easy to use भी ये है |

8 – Google Translate

google ने देखा की उनके सर्च इंजन में कई ऐसे लोग हैं जिन्हे लैंग्वेज को लेकर बहुत परेशानी आ रही है वो इंग्लिश जानते हैं मगर हिंदी नहीं या हिंदी आती है मगर इंग्लिश नहीं जानते |

इसके लिए उन्होंने Google Translate को लांच किया जिसमे आप 70 के करीब लैंग्वेज को किसी भी भाषा में ट्रांसलेट कर सकते हो |

9 – Blogger.com

काफी सारे लोग ऑनलाइन अपना ब्लॉग लिखना चाहते थे इसी को देखते हुए google ने 2003 में Blogger.com को लांच किया जहाँ आप free अपना ब्लॉग बना सकते हो |

10 – Google ads

इसके बारे में हम ऊपर भी काफी बात कर चुके हैं 2000 में google ने Google ads को लॉच किया था जहाँ कोई भी बिज़नेस करने वाले लोग ऑनलाइन अपने प्रोडक्ट को प्रमोट कर सकते हैं |

google all product list

Google Facts in hindi

अब बात करते हैं Google से जुड़े कुछ खास facts की –

1 : ‘Google ’नाम वास्तव में गणितीय शब्द’ googol’ से लिया गया है, जो मूल रूप से 1 है जिसमें 100 शून्य इसके बाद हैं

2 : Google नए कर्मचारियों को भर्ती करने के लिए foo.bar नामक एक वेब टूल का उपयोग करता है जो वे ऑनलाइन खोज करते हैं
यदि Google देखता है कि आप विशिष्ट प्रोग्रामिंग शब्दों जैसे कि पायथन की खोज कर रहे हैं, तो वे आपसे नौकरी के लिए आवेदन करने के लिए कह सकते हैं।

3 : लैरी और सर्गेई के निजी विमानों के पास नासा में runways हैं, जहां किसी अन्य विमान को उतरने की अनुमति नहीं है

4 : Google के पास स्वयं के नाम की सामान्य गलतियाँ हैं, जैसे कि www.gooogle.com, www.gogle.com और www.googrr.com।

5 : पहले Google कंप्यूटर स्टोरेज को Legos के साथ बनाया गया था |

6 : अमेरिका में Google कर्मचारियों को मृत्यु लाभ मिलता है जो इस बात की गारंटी देता है कि जीवित पति या पत्नी को अगले दशक तक हर साल उनके वेतन का 50% मिलेगा |

7 : Google कार्यालय के किसी भी हिस्से को किसी भी तरह के भोजन से 150 फीट से अधिक दूर रहने की अनुमति नहीं है |

8 : Google 1999 में $ 1 मिलियन में खुद को ऑनलाइन कंपनी Excite को बेचना चाहता था, लेकिन Excite CEO ने इस प्रस्ताव को अस्वीकार कर दिया |

अंतिम शब्द

आशा है दोस्तों आपको Google क्या है ,कैसे बना और इसके अलावा भी बहुत कुछ Google के बारे में हमारे इस पोस्ट के माध्यम से जानने को मिला होगा |

अगर आपका कोई भी सुझाव या सवाल है हमारे इस पोस्ट या फिर हमारे ब्लॉग को लेकर हो तो आप हमे comment करके बता सकते हैं |

साथ ही Blogging ,SEO ,डिजिटल मार्केटिंग और इंटरनेट से जुडी useful जानकरी पाने के लिए हमारे Email newsletter को subscribe और Facebook page को like करें |

Deepak Bhandari

Hello friends! मै DeepakBhandari.in का फाउंडर हूँ, मुझे डिजिटल मार्केटिंग और ऑनलाइन बिज़नेस से related टॉपिक के बारे मे जानना और साथ ही उस जानकारी को लोगों के साथ शेयर करना काफी अच्छा लगता है | इस ब्लॉग के जरिये मेरी कोशिश है की आप लोग अपने बिज़नेस या करियर को ऑनलाइन grow कर पायें |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share via
Copy link