E- Commerce क्या है और ये कितने प्रकार का होता है

E- Commerce क्या है

E- Commerce क्या है या इलेक्ट्रॉनिक कॉमर्स क्या है आज के पोस्ट में हम आपको इसी चीज़ के बारे में बहुत विस्तार से बताने वाले हैं |

दोस्तों आज के डिजिटल दौर में हर काम अब इंटरनेट की मदद से या ये कहें की ऑनलाइन होने लगे हैं जैसे की आपको बैंकिंग से रिलेटेड कोई काम करना है अकाउंट ओपन करना है या फिर पैसे का लेन -देन करना हो |

इसके अलावा कही कोई टिकट लेना हो ,कोई फॉर्म भरना हो सब ऑनलाइन आजकल बड़ी आसानी से हो जाता है |

इसी प्रकार अब बिज़नेस भी ऑनलाइन तरीके से होने लगे हैं ये तो आप में काफी लोग जानते ही होंगे, तो आज का हमारा ये टॉपिक E -commerce भी इसी चीज़ से रिलेटेड हैं |

और इसके बारे में जानना आज के दौर में हम सबके लिए बहुत जरुरी है क्योंकि हम चाहे कोई जॉब करना चाहते हैं या फिर कोई बिज़नेस हमे ऑनलाइन तरीके से होने वाले सभी बिज़नेस के बारे में जानकरी होना बेहद जरुरी है |

तो चलिए जानते हैं E-commerce क्या है ,इसके कितने प्रकार होते हैं ,कैसे काम करता है और आगे इसका फ्यूचर क्या है इन सबके बारे में हम इस खास पोस्ट में बात करेंगे |

E- Commerce क्या है (What is E-Commerce in Hindi )

E- Commerce क्या है

E- Commerce, जिसे इलेक्ट्रॉनिक कॉमर्स या इंटरनेट कॉमर्स के रूप में भी जाना जाता है, इंटरनेट का उपयोग करके माल या सेवाओं की खरीद और बिक्री, और इन लेनदेन को execute करने के लिए धन और डेटा के transfer के रूप में जाना जाता है।

E- Commerce का उपयोग अक्सर ऑनलाइन भौतिक उत्पादों की बिक्री को संदर्भित करने के लिए किया जाता है, लेकिन यह किसी भी प्रकार के बिज़नेस लेनदेन का वर्णन भी कर सकता है जो इंटरनेट के माध्यम से सुविधाजनक है।

ये तो आपने जाना की E-Commerce क्या है, लेकिन अगर हम थोड़ा ये जानने की कोशिश करे की इसकी शुरुआत कैसे हुई ? तो ये पहली बार ऑनलाइन बिक्री के साथ शुरू होता है | 11 अगस्त, 1994 को एक व्यक्ति ने अपनी वेबसाइट NetMarket, एक अमेरिकी खुदरा मंच के माध्यम से अपने मित्र को बैंड स्टिंग द्वारा एक सीडी बेची।

Google क्या है और कैसे बना – जानिए

Digital marketing क्या है और इसके कितने प्रकार हैं

Online पैसे कैसे कमाये, जानिए 10 बेहतरीन तरीकों से

Social media क्या है और इसके क्या फायदे हैं

7 सबसे बेहतरीन Online Business Ideas हिंदी में – जानिए

Machine Learning क्या है और इसके क्या फायदे हैं – जानिए

वर्ल्ड वाइड वेब या “ई-कॉमर्स” के माध्यम से किसी व्यवसाय से उत्पाद खरीदने वाले उपभोक्ता का यह पहला उदाहरण है जैसा कि आज हम आमतौर पर जानते हैं।

तब से, ई-कॉमर्स ऑनलाइन रिटेलर्स और मार्केटप्लेस के माध्यम से उत्पादों को खोजने और खरीदने में आसान बनाने के लिए विकसित हुआ है।

ई-कॉमर्स के इस नायब तरीके ने सभी को चाहे वो कोई इंडिविजुअल फ्रीलांसर हो ,कोई छोटा बिज़नेस करने वाला हो या फिर कोई बहुत बड़ी कंपनी ही क्यों न हो सबको फायदा ही दिया है |

क्योंकि E -commerce इन सभी को अपने प्रोडक्ट या फिर सर्विस को ऐसे पैमाने पर बेचने में सक्षम बनाता है जो पारंपरिक ऑफ़लाइन खुदरा के साथ संभव नहीं था।

Global retail ecommerce की बिक्री 2020 तक $ 27 ट्रिलियन तक पहुंचने का अनुमान है।

दोस्तों E-Commerce को और विस्तार से आप तभी समझ पाओगे जब आपके इसके प्रकार के बारे में जानोगे तो चलिए अब हम आपको E-commerce के सभी प्रकारों की विस्तार से जानकारी देते हैं –

E- Commerce के प्रकार

mainly, E- Commerce का ये मॉडल चार प्रकार का होता है | जो एक consumer और बिज़नेस के बीच में होने वाले सभी लेन -देन को describe करता है |

1. Business to Consumer (B2C) – जब कोई व्यवसाय किसी व्यक्तिगत उपभोक्ता को एक अच्छी या सेवा बेचता है (उदाहरण के लिए हम या आप जैसे आम इंडिविजुअल लोग ऑनलाइन रिटेलर से एक जोड़ी जूते खरीदते हैं)।

2. Business to Business (B2B) – जब कोई व्यवसाय किसी अन्य व्यवसाय के लिए एक अच्छी या सेवा बेचता है (उदाहरण के लिए, कोई व्यवसाय उपयोग करने के लिए अन्य व्यवसायों के लिए सॉफ़्टवेयर-ए-ए-सेवा बेचता है)

3.  Consumer to Consumer (C2C) – जब एक उपभोक्ता किसी अन्य उपभोक्ता को एक अच्छी या सेवा बेचता है (उदाहरण के लिए, आप अपने पुराने फर्नीचर को ईबे पर किसी अन्य उपभोक्ता को बेचते हैं)।

4. Consumer to Business (C2B) – जब कोई उपभोक्ता अपने उत्पादों या सेवाओं को किसी व्यवसाय या संगठन को बेचता है (उदाहरण के लिए, एक प्रभावशाली व्यक्ति शुल्क के बदले में अपने ऑनलाइन दर्शकों को एक्सपोज़र प्रदान करता है, या एक फ़ोटोग्राफ़र किसी व्यवसाय को उपयोग करने के लिए अपनी तस्वीर का लाइसेंस देता है)।

अब दोस्तों आपने जरूर E-commerce को अच्छे से जान और समझ लिया होगा और अगर अभी जानना है तो अब हम इसके कुछ Examples की बात भी कर लेते हैं ताकि आप काफी अच्छे तरीके से E-commerce के इस खास concept को समझ जाओ |

E-Commerce के Examples

दोस्तों अब कुछ E-Commerce के Examples की बात करते हैं –

1 . Retail – इसका मतलब की कोई ग्राहक किसी भी प्रोडक्ट को डायरेक्ट बिक्री कर रहा है उसके बीच में कोई नहीं है |

2 . Wholesale – यहाँ पर प्रोडक्ट को थोक में यानि बंच में बेचा जाता है जिसे आमतौर पर वो लोग लेते हैं जिनकी दुकान होती है ताकि वो फिर उसे उपभोक्ता को बेच सके अपना मार्जिन रख कर |

3. Dropshipping – एक उत्पाद की बिक्री, जो एक तीसरे पक्ष द्वारा उपभोक्ता को निर्मित और भेज दी जाती है।

4. Crowdfunding – एक उत्पाद के अग्रिम में उपभोक्ताओं से धन का संग्रह उपलब्ध है ताकि इसे बाजार में लाने के लिए आवश्यक स्टार्टअप पूंजी जुटाई जा सके।

5. Subscription – एक उत्पाद या सेवा की स्वचालित आवर्ती खरीद नियमित रूप से तब तक होती है जब तक कि ग्राहक रद्द नहीं करता।

6. Digital products– डाउनलोड करने योग्य डिजिटल सामान, टेम्प्लेट और पाठ्यक्रम या मीडिया जो उपभोग के लिए खरीदे जाने चाहिए या उपयोग के लिए लाइसेंस प्राप्त होने चाहिए।

दोस्तों अभी तक पोस्ट में हमने आपको बताया की E-Commerce क्या है ,कितने प्रकार के होते हैं और इसके क्या Examples होते हैं |

अब हम आपको E-Commerce के क्या -क्या फायदे होते हैं उसके बारे में आपको बताते हैं |

E- Commerce के फायदे

आपके व्यापार को विस्तार देने के लिए ऑनलाइन मार्केटप्लेस एक अच्छा प्लेटफॉर्म है। हम यह बताने जा रहे हैं कि ऑनलाइन बिक्री के बारे में हमें जो पता है उसे साझा करने से किस तरह के फायदे हैं।

खरीद प्रक्रिया में तेजी

E- Commerce ने उपभोक्ता के खरीद प्रक्रिया को काफी तेज और आसान बनाया है | ग्राहक अपनी इच्छानुसार खरीदारी के लिए कम समय बिता सकते हैं। वे आसानी से एक बार में कई वस्तुओं के माध्यम से ब्राउज़ कर सकते हैं

और उन्हें जो पसंद है वह खरीद सकते हैं। जब ऑनलाइन होते हैं, तो ग्राहक उन वस्तुओं को खोज सकते हैं जो भौतिक दुकानों में उनसे बहुत दूर हैं या उनके इलाके में नहीं मिली हैं।

स्टोर और उत्पाद सूची निर्माण

एक उत्पाद लिस्टिंग वह है जो ग्राहक देखता है जब वे किसी वस्तु की खोज करते हैं। विक्रेता के लिए ई-कॉमर्स में इसका एक फायदा है। यह ऑनलाइन व्यापार प्लस बिंदु यह है कि आप उन्हें बनाने के बाद अपनी उत्पाद सूची को निजीकृत कर सकते हैं।

सबसे अच्छी बात? लिस्टिंग बनाने में बहुत कम समय लगता है, आपको केवल अपने उत्पाद का नाम या कोड जैसे EAN, UPC, ISBN या ASIN चाहिए होता है।

Sellers कई चित्र, एक विवरण, उत्पाद श्रेणी, मूल्य, शिपिंग शुल्क और वितरण तिथि जोड़ सकते हैं। तो, सिर्फ एक कदम में आप ग्राहक को आइटम के बारे में कई बातें बता सकते हैं।

आपकी लिस्टिंग बनाने से खरीदारों को पता चलता है कि आपके पास क्या है।

कम लागत

ई-कॉमर्स के कारोबार के सबसे बड़े फायदों में से एक यह है कि विक्रेताओं को ऑनलाइन बिक्री में दिलचस्पी रखने वाले लागत में कमी आती है। कई विक्रेताओं को अपने भौतिक स्टोर को बनाए रखने के लिए बहुत भुगतान करना पड़ता है।

उन्हें किराए, मरम्मत, स्टोर डिजाइन, इन्वेंट्री आदि जैसे अतिरिक्त लागत का भुगतान करने की आवश्यकता हो सकती है। कई मामलों में, सेवाओं, स्टॉक, रखरखाव और कार्यबल में निवेश करने के बाद भी, विक्रेताओं को वांछित लाभ और आरओआई प्राप्त नहीं होता है।

मार्केटिंग और एडवरटाइजिंग का सस्ता होना

विक्रेताओं को अपनी वस्तुओं को बढ़ावा देने के लिए बहुत पैसा खर्च नहीं करना पड़ता है। ई-कॉमर्स की दुनिया में ऑनलाइन बाजार के कई किफायती, त्वरित तरीके हैं। ई-कॉमर्स मार्केटप्लेस दृश्य चैनल हैं – और विक्रेता वास्तव में अपने उत्पाद को दिखा सकते हैं।

उदाहरण के लिए, अमेज़ॅन विक्रेता वीडियो, इन्फोग्राफिक्स, अच्छी गुणवत्ता वाले रिज़ॉल्यूशन छवियों को जोड़ने के लिए विज्ञापन टूल का उपयोग कर सकते हैं।

ये वीडियो हमने Udyami India यूट्यूब चैनल से लिया है

अंतिम शब्द

दोस्तों मुझे पूरी उम्मीद है की आपको E-Commerce क्या है और इसके क्या -क्या फायदे हैं इसके बारे में पूरी अच्छे से जानकारी हमारी इस पोस्ट के जरिये जरूर मिल गयी होगी |

अगर आपका कोई भी सुझाव या सवाल हमारे इस पोस्ट या फिर हमारे ब्लॉग के बारे में है तो आप हमे कमेंट करके जरूर बताएं |

और Blogging,SEO ,डिजिटल मार्केटिंग और ऑनलाइन बिज़नेस  की दुनिया से संबधित ऐसी ही useful जानकारी पाने के लिए हमारे ईमेल newsletter को सब्सक्राइब और Facebook पेज को जरूर लाइक करें |

Deepak Bhandari

Hello friends! मै DeepakBhandari.in का फाउंडर हूँ, मुझे डिजिटल मार्केटिंग और ऑनलाइन बिज़नेस से related टॉपिक के बारे मे जानना और साथ ही उस जानकारी को लोगों के साथ शेयर करना काफी अच्छा लगता है | इस ब्लॉग के जरिये मेरी कोशिश है की आप लोग अपने बिज़नेस या करियर को ऑनलाइन grow कर पायें |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share via
Copy link